एप्पल विजन प्रो क्या है कैसे काम करता है पूरी जानकारी - About Apple Vision Pro and Features

Technology के इस बढ़ते युग में Virtual Reality (VR) एक नया तकनीकी मोड़ है जो User Experience को बदलकर रख देगा। Virtual Reality आपको एक अलग रियलिटी आपके घर में बिना कहीं गए दिखायेगा इसके लिए उपकरण की जरूरत होती है जैसे VR Headset यह VR का प्रथम चरण हैं जिसमे Headset की जरूरत पड़ती है।

apple vision pro

पर आगे आने वाले भविष्य में हो सकता है Headset की जरूरत न पड़ें वर्तमान ऐसे हेडसेट बहुत से मिल जायेंगे जिनमे वीडियो प्लेइंग सिस्टम Headset के अंदर होता है लेकिन अगर पूरा PC सिस्टम ही VR Headset के अंदर हो तो तब कैसा रहेगा? और ऐसा संभव कर दिया Apple Company ने Apple ने Launch कर दिया Apple Vision Pro जिसके बारे में Apple विजन प्रो क्या है कैसे काम करता है और इसके फीचर्स आज हम जानेंगे।

Apple Vision Pro - Features and Specifications

Feature Specification
Display 23 million pixels, 3D display system, Micro-OLED, 7.5-micron pixel pitch, 92% DCI-P3 color gamut
Refresh Rate 90Hz, 96Hz, 100Hz (automatically adjusts based on content)
Cameras Stereoscopic 3D main camera system, spatial photo and video capture, 18mm focal length, f/2.0 aperture, 6.5 stereo megapixels
Processor Apple M2 chip (8-core CPU, 10-core GPU, 16-core Neural Engine)
Co-processor Apple R1 chip
Memory 16GB unified memory
Storage 256GB, 512GB, or 1TB
Eye Tracking LED and infrared camera system for precise eye tracking and iris scanning (Optic ID)
Audio Spatial audio system with dynamic head tracking
Battery External battery pack with up to 2.5 hours of use (video playback)
Charging USB-C port, external power supply, or battery pack
Other Features Curved laminated glass display, aluminum frame, flexible cushion, removable and adjustable headband, five sensors, six microphones, persona creation

Apple अपने Expensive Features के लिए प्रसिद्ध अब चाहे वह I Phone के प्राइस में हो या I Phone के अंदर कैमरा या OS की बात हो एप्पल हमेशा अपने यूजर्स के लिए कुछ Different करने का सोचता है और इस बार Apple ने अपना खुद का VR Headset निकाला है लेकिन यह कोई आम हेडसेट नहीं है इसके अंदर Apple कुछ अलग किया है और दूसरे हेडसेट से बेहतर बनाने की कोशिश की है और बेहतर कीमत भी रखी है।

Apple Vision Pro क्या है काम कैसे करता है

Apple Company द्वारा बनाया गया एक Mixed Reality Headset है जो की वर्चुअल रियलिटी टेक्नोलॉजी पर आधारित है यह Apple Vision Pro न सिर्फ वीडियो फंक्शन देता है बल्कि इसके अंदर हमें मिलता है Whole PC सिस्टम और PC System के साथ ही और भी ऐसे फीचर्स देता है जो की User Experience को Realistic बनाता है और यह पूरा काम एक Lenses या एक हेडसेट के अंदर होता है। Apple Vision Pro में आंखो के सामने Vision Create होता है पूरा PC सिस्टम का जो आपको पूरा कंट्रोल आपके हाथ को देंगे यानी सेंसर्स और लेंस के द्वारा यह काम करता है Apple Vision Pro के अंदर कई सारे फीचर्स जिनके बारे में हमने उल्लेख किया है।

Hand Control

अगर किसी दूसरी VR से एप्पल हेडसेट्स या Apple Vision Pro की तुलना करें तो दूसरे VR Set में हमें Joysticks या कंट्रोलर चाहिए होते थे पर इस समस्या को Apple खत्म कर दिया है अब कैमरा Sensors की मदद से हम हर एक टास्क या एक्शंस को अपने हाथों द्वारा नियंत्रित कर सकते हैं। Apple Vision Pro में Joystick का काम हमारे हाथ करते हैं और यह Reality Headset हाथ के Motion को Detect करते हैं।

दो Processors एक साथ

Apple Vision Pro एक Mixed Reality Headset है जिसके अंदर PC System है पर इस Device की सबसे बड़ी खासियत है की इसका Processor Laptop या MacBook के अपेक्षा बेहतर है क्योंकि Apple Vision Pro के अंदर हमें देखने को मिलते हैं 2 Processor's जो की डबल गुना ज्यादा स्पीड प्रदान करते हैं। Apple Vision Pro के अंदर R1 और M2 Type Processors का इस्तेमाल किया गया है आमतौर पर Devices मे एक ही प्रोसेसर होता है पर Apple Vision Pro के अंदर दो प्रोसेसर्स हैं।

16 GB RAM

एप्पल का MAC OS हो या मोबाइल के लिए IOS हो दोनो ही इतने Lite थे की ज्यादा RAM की जरूरत नही पड़ती थी क्योंकि Apple के OS ज्यादा RAM Consume नहीं करते पर इस बार Apple अपने visionOS के साथ RAM पर भी ध्यान दिया है और 16 GB Maximum RAM का Support दिया है ताकि Virtual Reality में किसी भी तरह से त्रुटि न हो।

90Hz, 96Hz, 100Hz Refresh Rate तक का Support

जब हम एक मोबाइल स्क्रीन को देखते हैं तो सबसे पहले यही सोचते हैं की Screen का रिफ्रेश Rate बढ़िया होना चाहिए यानी स्क्रोलिंग करते वक्त किसी भी तरह से Frames में Lag नहीं समझ आना चाहिए और अगर हम Headsets की बात करें तो इसमें हमें Reality को अनुभव करना होता है और इसीलिए Maximum 100Hz का रिफ्रेश Rate एक बेहतर Experience देगा।

256GB To 1TB Capacity

मूवी या High-quality फोटोज Save सभी यूजर्स करते हैं पर यदि Device का स्टोरेज कम है तो यह समस्या वाली बात हो जाती है हालाकि Apple के किसी भी डिवाइस में स्टोरेज की कमी बिलकुल भी नहीं होती लेकिन यह बात ध्यान देने लायक है की यह Apple Vision Pro है और यूजर इसमें High Quality Videos और Photos रखना पसंद करेगा तभी जाकर रियलिटी को और भी बढ़िया तरीके से अनुभव कर पाएगा उसके लिए 512GB से 1TB तक की स्टोरेज पर्याप्त होगी।

Read also,

निष्कर्ष

अगर इस टेक्निकल युग में वर्चुअल रियलिटी को सही से अनुभव करना है तो एप्पल का यह प्रयास Apple Vision Pro द्वारा एक नया मोड़ ला देगा।

Support Us

भारतवर्ष की परंपरा रही है कि कोई सामाजिक संस्थान रहा हो या गुरुकुल, हमेशा समाज ने प्रोत्साहित किया है, अगर आपको भी हमारा योगदान जानकारी के प्रति यथार्थ लग रहा हो तो छोटी सी राशि देकर प्रोत्साहन के रूप में योगदान दे सकते हैं।

Admin

By Admin

Related Posts

Post a Comment