System Unit क्या है? सिस्टम इकाई (यूनिट) के प्रकार तथा काम कैसे करता है

Computer या Laptop की भूमिका हमारे जीवन में बढ़ती जा रही है ऐसे में कंप्यूटर के बारे में Knowledge होना बेहद जरूरी है कंप्यूटर से संबंधित System Unit के बारे में कुछ ही लोग जान पाते हैं यह Computer Hardware के संदर्भ में System Unit का योगदान ही सारे हार्डवेयर को प्रबंधित करता है।

system unit

कंप्यूटर या लैपटॉप में System Unit क्या है किसे कहते हैं जिसकी जानकारी हम सभी को होना चाहिए स्पेशल यूनिट पर आधारित आज के लेख में विस्तृत जानकारी मिलेगी।

System Unit

Connection से संबधित इकाई जो सभी हार्डवेयर के लिए जिम्मेदार है। कोई भी कंप्यूटर से संबंधित डिवाइस में अलग - अलग हार्डवेयर तक कनेक्शन बनाए रखना बेहद जरुरी होता है System Unit का काम यहीं पर लागू होता है। बिना स्पेशल यूनिट के सारे हार्डवेयर बेकार सिद्ध हो सकते हैं इसीलिए System Unit का होना आवश्यक होता है।

System Unit क्या है काम कैसे करता है

Special यूनिट वह रणनीति है जो कंप्यूटर से हार्डवेयर का तक का कनेक्शन बनाए रखता है एक हार्डवेयर का कंप्यूटर तक कनेक्शन इलेक्ट्रिसिटी या बैटरी के द्वारा होता है पर उसमे जो डाटा का आदान प्रदान होता है यानी User द्वारा भेजे गए संदेश हार्डवेयर की मदद से कंप्यूटर में आवेदन दिए जाते हैं वह System Unit के मध्यम से होता है। System Unit कोई एक Component नहीं है बल्कि यह कई सारे Hardwares हैं जैसे -

  • Motherboard - मदरबोर्ड में के अंदर कई अवयव होते हैं जिन्हें Slots Ports कहते हैं यह RAM, CPU, Storage Devices सभी से जुड़ा होता है कोई भी निर्देश मदरबोर्ड से होकर प्रक्रिया करती है।
  • CPU - CPU अर्थात Central Processing Unit होता है इसमें दिए गए निर्देश Excute होते हैं और अलग - अलग Task की गणना CPU के मध्यम से होती है और इसलिए CPU को कंप्यूटर का दिमाग कहा गया है ठीक उसी प्रकार जैसे इंसान का दिमाग किसी भी कार्य को करने के लिए गणना करता है।
  • RAM - Random Access Memory जिसका उपयोग Randomly किसी Apps के लिए किया जाता है। जब भी कोई Application User द्वारा Run करते हैं तो उसका डाटा कुछ समय के लिए RAM में Store हो जाता है जिसे CPU द्वारा Process किया जाता है तभी यूजर को वह Application शो होता है।
  • Cooling System - कंप्यूटर के ज्यादा उपयोग से या प्रोसेसर्स में ज्यादा एक्टीविटी होने से हार्डवेयर Heat होने लगते हैं और इसीलिए कंप्यूटर में मौजूद Fans तथा Sinks होते हैं जो System Unit के लागतार जारी होने से Temperature High होने पर Cooling System काम करता है।
  • Power Supply Unit - PSU ही कंप्यूटर में उपयोग किए जाने वाले हार्डवेयर के ऊर्जा के लिए Power Supply करता है इलेक्ट्रिसिटी के माध्यम से PSU द्वारा अलग - अलग हार्डवेयर में Power Supply होता है।
  • Expansion Slots - Computer या लैपटॉप में Slots होते हैं जो की अतिरिक्त कार्ड या अवयव को जोड़ने के लिए होता है और यह स्लॉट्स मदरबोर्ड से जुड़ा रहता है इन स्लॉट्स में अलग - अलग Cards लगाने की सुविधा होती है जैसे Network Card, Sound Card तथा Graphic Card. etc इनमे जुड़ाव इकाई द्वारा ही होती है।
  • Connectivity Ports - बाहरी हार्डवेयर या डिवाइस को Connect करने के लिए कम्प्यूटर में अलग - अलग Ports होते हैं जो की Computer अतिरिक्त शक्ति प्रदान करता है। मान लीजिए हमारे डेस्कटॉप या लैपटॉप में Sound Feature नहीं है तो Ports के मध्यम से बाहरी Sounds को कनेक्ट किया जा सकता है या और यह संभव हो पाता है Ports के मध्यम से।

हमारे कंप्यूटर सिस्टम में इन इकाइयों के अलावा बाहरी उपकरण भी शामिल रहते हैं जिसमे Input और Output डिवाइस भी शामिल है।

Read also,

निष्कर्ष

किसी भी Computer Device में बिना System Unit के हार्डवेयर या सर्किट का जुड़ाव हो पाना मुश्किल होता है इसीलिए सिस्टम इकाई Device's के लिए महत्वपूर्ण है तभी डाटा का आदान - प्रदान हार्डवेयर के माध्यम से संभव है।

Support Us

भारतवर्ष की परंपरा रही है कि कोई सामाजिक संस्थान रहा हो या गुरुकुल, हमेशा समाज ने प्रोत्साहित किया है, अगर आपको भी हमारा योगदान जानकारी के प्रति यथार्थ लग रहा हो तो छोटी सी राशि देकर प्रोत्साहन के रूप में योगदान दे सकते हैं।

Admin

By Admin

Related Posts

Post a Comment